Share your knowledge with other learners . . . Login Register

HTML Introduction In Hindi

📔 : HTML 🔗

HTML को “Hypertext Markup Language” कहा जाता है। यह Web Pages बनाने में सबसे ज्यादा use की जाती है। HTML का Use करके हम Web Browser को यह inform करते है, कि web page का Content user को कैसा दिखेगा।

आइये इसे अलग अलग समझते है-

  • Hypertext : Hypertext वह Text होता है, जिसमे किसी अन्य Web Pages का Link मौजूद होता है। जब कोई User उस text( Anchor Text) के ऊपर click करता है, तो वह उस webpage पर पहुंच जाता है।। इस प्रकार Web Pages में मौजूद वह text जिसमे लिंक होता है, Hyper Text कहलाते है।

  • Markup : किसी भी Web Page के Structure को बनाने के काम में आती है। for example आप एक webpage में Paragraph, Heading, Table और list etc create कर सकते है; साथ ही Images और Videos को भी जोड़ सकते है।

  • Language : HTML एक language है जो webpage बनाने के लिये code -words का Use करती है जिन्हे हम tags कहते है

इसके मुख्य 3 भाग होते है- HTML Elements , HTML Tag और HTML Text

HTML Element- HTML Tag से मिलकर बनता है. Angel Bracket (<>) के बीच जो word या character लिखा होता है, इसे HTML Tag कहते है. यह दो प्रकार का होता है. पहला, Opening tag और दूसरा Closing tag. HTML text जो कि HTML Tag के बीच लिखा जाता है.

इसके लिए mainly दो प्रकार के Tools की जरूरत पड़ती है -

  1. Text Editor- HTML code लिखने के लिए notepad, Sublime Notepad++ या Visual Studio text editors जैसे softwares का use करते है और उसके बाद उस file को .html extension से save करते है।

  2. Browser - file को रन कराने के लिए google chrome, mozilla firefox, Opera, IE आदि browsers को use कर सकते है।

History of HTML

HTML की history जानने के लिए हम HTML की दुनिया मे थोड़ा सा पीछे चलते है ,HTML Sir Tim Berners Lee द्वारा develop की गयी थी सबसे पहले इन्होने ही HTML का उपयोग किया था. वर्तमान समय में HTML के विकास का ज़िम्मेदारी एक orgnization “World Wide Web Consortium (W3C)” के पास है. यह संस्था ही अब HTML का ख्याल रखती है. आइए जानते है अब तक आए HTML के versions बारे में-

SGML / HTML

SGML – Standard Generalized Markup Language का रूप था. HTML first version है

इसके द्वारा text को Structure किया जा सकता था. इसके लिए कुछ Tags का create किया गया था और इस version का कोई नाम नही था इसे सिर्फ HTML कहा गया. लेकिन HTML के अगले संस्करणो के नाम थे. इसलिए सुविधा के लिए इस संस्करण को HTML 1.0 भी कहा जाता है.

इस version के बारे में आजकल नहीं पता हैं पर इस version में बहुत कमिया थी जिसके कारण नये version आते रहे हैं ।नये version में इन कमियो को दूर किया गया और बहुत simple or easy to learn किया गया ।
ये HTML का शुरुआती दौर था तब इसमें इतना कुछ नहीं था बस simple text tag थे । इसके अब तक कई versions आ चुके है-

HTML 2.0

HTML के first version के बाद एक group IETF – Internet Engineering Task Force द्वारा HTML के अगले version को Rename किया गया. यह HTML 2.0 version कहलाया जिसे 24 Nov 1995 में publish किया गया था.इस version में कुछ नयी facilities add की गई जिसमें ‘Image Tag‘ सबसे important facility थी. लेकिन अभी Internet ज्यादा Popular नही हुआ था.

HTML 3.0

इस समय तक HTML और इंटरनेट अपनी छाप छोड चुके थे और दोनो लोकप्रिय होने लगे थे. अब पहल से ज्यादा लोग इससे जुड चुके थे. अधिक से अधिक लोग HTML सीखना चाहते थे और Internet से जुडना भी चाहते थे.

HTML 3.2

HTML 1.0 के publish और HTML 3.0 की सिफारिश तक एक Orgnization का Evolution हो चुका था, जो HTML language के लिए कार्य करने के लिए बनाया गया था. इसे W3C – World Wide Web Consortium के नाम से जाना जाता है.

HTML 4.0

अब Internet काफी popular था. अधिक से अधिक लोग HTML जुड़ना चाहते थे. और जो पहले से ही इससे जुड़े थे. वे HTML को ज्यादा चाहने लगे. इसलिए HTML का next version HTML 4.0 को publish किया गया. यह HTML की history मे एक बड़ा बदलाव था।

HTML 4.01

HTML next version HTML 4.01 था जो HTML 4.0 का updated version है. इसे W3C द्वारा 1999 में Publish किया गया था. आज लगभग website इसी version पर बनी हुई है.

Xhtml - Xhtml की Full Form - Extensible HyperText Markup Language है, 2000मे develop किया गया था XML HTML से ज्यादा आसान और customizable है XML मे आप खुद से नया tag बना सकते होऔर अपने जरूरत के according document के structure को तैयार कर सकते हो इसलिए इसे Extensible language कहा जाता है

HTML 5

इसमे HTML 4.01 के features के अलावा XML कि विशेषताओं को भी जोडा गया है. यह version धीरे-धीरे अपनी पहचान बना रहा है. और काफी popular हो चुका है.

"HTML का latest version HTML 5.2 W3C की Recommendation पर 14 Dec 2017 को publish किया गया है "।

HTML का उपयोग कहाँ और कैसे किया जाता है?

HTML का Use web document create के लिए किया जाता है. मगर, इसकी limit web page बनाने तक ही नहीं हैक्योंकि HTML web का आधार है. इसके बिना web creationकी कल्पना भी नहीं की जा सकती है.

HTML Document बनाने के अलावा इसका use others felids मे भी किया जाता है

  • Web Page Development

  • Navigation

  • Game Development

  • Responsive Graphics

  • Web Document Formatting

Related Topics :

Rahul Kumar

Rahul Kumar

Hi ! My name is Rahul Kumar Rajput. I'm a back end web developer and founder of learnhindituts.com. I live in Uttar Pradesh (UP), India and I love to talk about programming as well as writing technical tutorials and tips that can help to others.

Get connected with me. :) LinkedIn Twitter Instagram Facebook

b2eprogrammers