What is Modem ? and How Modem works?

Image could not load

Modem Image By pixabay

Modem एक hardware networking device है जो किसी एक computer network से दूसरे network में signals को convert करने में help करता है। इसका use computer को internet से connect करने के लिए किया जाता है , जहाँ यह data signals को digital और analog forms में convert करता है।

Modem internet को accessible बनाने के लिए आपके Internet Service Provider (ISP) को एक dedicated connection establishes और maintains करता है। यह एक तरह से signal translator को तरह work करता है ,क्योंकि यह एक signal को दूसरे signal में translate करता है जिसे computers और telephone lines एक दूसरे से interact कर सकें।

Why do we use modem ?

OK , तो अब आपके mind में एक question होना चाहिए की actually में modem use ही क्यों करते हैं ? Well, जब हम अपने computer को internet से connect करते हैं , तो दो तरह के signals use होते हैं -

  • digital signals

  • analog signals

हमारा computer सिर्फ digital signals को ही समझता है। जबकि phone lines जिसकी help से Internet को connect किया जाता है वो analog signals पर work करती हैं। Computer कभी भी directly आपके ISP phone lines से communicate नहीं कर सकता है , क्योंकि computer और internet दोनों different - different types के signal पर work करते हैं। इसीलिए Modem का use computer और internet के बीच as a signal translator की तरह होता है। अब अगर हम अपने घर या business के लिए पर Internet access करना चाहते हैं तो हमारे पास एक modem होना ही चाहिए।

How Modem Works ?

देखा जाए तो Modem दो words को मिलाकर बनाया गया है -

  • MO = Modulator

  • DEM = Demodulator

  • MO+DEM = Modulator , Demodulator

और अभी आपने पढ़ा है कि जब हम अपने computer को internet से connect करते हैं , तो digital signals और analog signals use होते हैं। हमारा computer सिर्फ digital signals जिसे 1’s and 0’s जिसे Binary Numbers कहते हैं , को ही समझता है। जबकि phone lines जिसकी help से Internet को connect किया जाता है वो analog signals पर work करती हैं। इसीलिए Modem को as a signal translator की तरह use में लेते हैं।

तो हम कह सकते हैं कि एक Modem signal को modulate करता है और signals को demodulate भी करता है। Modulate का मतलब है computer’s digital data (1 , 0 ) signals को analog data signals में convert करना है जिसे data internet पर transmit / travel किया जा सके।

और Demodulate का मतलब है internet से analog data signals को digital data signals में convert करना जिससे computer समझ सके और data process कर सके।

Types of Modem

Generally use होने वाले modems 4 type के होते हैं।

  • Dial-up Modem

  • DSL Modem

  • External Modem

  • Internal Modem

Dial-up Modem

  • Dial-up modems , old technology-based modems होते हैं , जिनका use, telephone lines के साथ dial-up connections का use करके Internet से जुड़ने के लिए किया जाता था।

  • Dial-up modems को use करने के लिए हमें internet से connect करने के लिए telephone number dial करना पड़ता था।

  • Dial-up connection establish करने के लिए , हमें एक active phone line की जरूरत पड़ती थी जो कि use में नहीं हो , फिर phone number को receiver के phone के लिए dial किया जाता था जो किसी दूसरे computer से attached था।

  • जब connection establish होने के बाद ही हम internet को use कर पाते थे।

  • Technical limitations की वजह से dial-up modems की speed 56kbps तक ही थी।

DSL Modem

  • DSL का मतलब है Digital Subscriber Line जिसे DSL broadband भी कहते हैं। DSL modems को local telephone lines के साथ भी use किया जा सकता है जैसे dial-up, लेकिन वो dial-up connections से पूरी तरह से different हैं।

  • DSC , phones और internet के लिए separate frequencies use करती हैं , जिससे हम एक ही time पर phone और internet को use कर सकते हैं।

  • यह single computer को connect करने में help करता है और DSL router की help से multiple Ethernet ports के through multiple computers को connect कर सकते हैं।

External Modem

  • जैसा की इसके name से पता चलता है, इस type के modems को externally use किया जाता है , जी कि computer के बाहर एक cable से जुड़े होते हैं।

  • ये high-speed data transmission rate provide करते हैं और network connectivity में interruption को avoid करने में भी help करते हैं।

  • इन्हे use करना बहुत ही easy हैं , लेकिन ये थोड़े expensive होते हैं।

Internal Modem

  • इस type के modems computer के motherboard में ही installed होते हैं। ये portable नहीं होते हैं , और न ही इन्हे एक computer से दूसरे computer में आसानी से move या replace किया जा सकता है।

  • इनका use किसी dedicated computers के लिए ही किया जाता है।

  • इनमे Data transmission rates , slow होता है।

Recent Blogs

Loading ...

Rahul Kumar

Rahul Kumar

Hi ! My name is Rahul Kumar Rajput. I'm a back end web developer and founder of learnhindituts.com. I live in Uttar Pradesh (UP), India and I love to talk about programming as well as writing technical tutorials and tips that can help to others.

Get connected with me. :) LinkedIn Twitter Instagram Facebook